अपराधी मुन्ना बजरंगी की जेल में हत्या

0
16

ब्यूरो चीफ, दिलीप लालवानी (फ़िरोज़ाबाद):- शातिर अपराधी मुन्ना बजरंगी की जेल में हत्या होने पर कानून व्यवस्था को लेकर उठाए गए सवाल पर प्रदेश सरकार के श्रममंत्री जवाब नहीं दे सके। वे कांचनगरी के चूड़ी व कांच उद्योग से जुड़े श्रमिकों की समस्याओं को भी टालते नजर आए। सोमवार को नगर के पालीवाल हॉल पर आयोजित हितलाभ प्रमाण पत्र वितरण के बाद प्रदेश सरकार के श्रम मंत्री मीडिया कर्मियों से मुखातिब हुए। जब उनसे जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या से कानून व्यवस्था को लेकर सवाल पूछा तो मंत्री बोले कि वे इस समय श्रमिकों के कार्यक्रम में भाग लेने फिरोजाबाद आए हैं। फिलहाल इस घटना पर कुछ नहीं कह सकते। श्रम मंत्री से जब पूछा कि फिरोजाबाद में लाखों श्रमिक काम करते हैं। उनके लिए आवासीय सुविधा के नाम पर एक पुरानी बसी लेबर कालोनी है, इस कालोनी में बने क्वार्टरों पर सम्पन्न लोगों ने कब्जा कर रखा है। फिरोजाबाद की तरह अन्य जिलों में बनीं लेबर कालोनियों का भी यही हाल है। हाई कोर्ट के आदेश के बाद भी सरकार कोई कार्यवाही नहीं कर रही। पर श्रम मंत्री ने कहा कि मामले की जानकारी करेंगे। श्रम मंत्री से जब पूछा गया कि नगर विधायक मनीष असीजा विधानसभा में श्रमिकों के लिए कांच नगरी में नई लेबर कालोनी का मुददा उठा चुके हैं। शासन स्तर पर लिखा पढ़ी भी की गई। लेकिन श्रम मंत्रालय अभी तक नई लेबर कालोनी पर कोई निर्णय नहीं ले सका है। इसका भी श्रम मंत्री कोई साफ जवाब नहीं दे सके। सिर्फ इतना भर बोले कि कालोनी के मामले में सरकार कमेटी बनाएगी तो उसमे असीजा को भी शामिल किया जाएगा।