Under-19 CWC : 180 में से 46 सिंगल, 23 डबल, 7 ट्रिपल रन भागे जैकब भुला ने

0
9

जालन्धर: अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप में व्यक्तिगत स्कोर के मामले में रिकॉर्ड बनाने वाले न्यूजीलैंड के क्रिकेटर जैकब भुला ने न सिर्फ अपनी टीम को बढ़े लक्ष्य तक पहुंचाया बल्कि अपने स्टैमिना से क्रिकेट एक्सपर्ट को हैरान कर दिया। उन्होंने कीनिया के खिलाफ खेलते हुए 180 रन बनाए। रन आऊट होने से पहले भुला 144 गेंद खेल चुके थे। पारी दौरान उन्होंने 10 चौके और 5 छक्के भी लगाए। लेकिन सबसे बड़ी बात यह रही कि उन्होंने अपने 180 रन में से 46 सिंगल, 23 डबल, 7 ट्रिपल निकाले। जो कि उम्र के हिसाब से उनकी बेहतरीन फिटनेस जाहिर करता है। जैकब का पुरा नाम जैकब जारोड नारायण पटेल भुला है।

आखिरी 80 रन 39 गेंद में बनाए
भुला न्यूजीलैंड के लिए ओपनिंग करने आए थे। उन्होंने अपनी 180 रन की शुरुआत पहला ओवर मेडन खेलकर की थी। भुला ने अपना शतक 32वें ओवर में 105 गेंद खेलकर बनाया था। लेकिन इसके बाद उन्होंने ताबड़तोड़ बल्लेबाज की। अगले 80 रन उन्होंने सिर्फ 39 गेंद में ही बना दिए। इनमें भुला ने 5 छक्के और 2 चौके लगाए। शतक बनाते वक्त भुला ने केवल 8 चौके ही लगाए थे। इसमें भी उन्होंने 26 सिंगल निकाले थे। इस तरह पूरी पारी में उन्होंने 10 चौके और 5 छक्के लगाए।

रचिन रविंदर और फिन ऐलन ने भी खूब धोया
एक तरफ जहां भुला सधी हुई पारी खेल रहे थे वहीं दूसरी ओर उनके साथी रचिन रविंदर और फिन ऐलन ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी जारी रखी। 36वें ओवर में जब रचिन 117 रन पर आऊट हुए तो टीम का स्कोर 245 था। भुला भी तब 117 रन बनाकर खेल रहे थे। फर्क बस यह था कि रचिन ने 117 रन बनाने के लिए 101 गेंदें खेली तो भुला तब तक 115 गेंद खेल चुके थे।

कीनिया को 243 रन से हराया
जैकब भुला, रचिन रविंदर के साथ फिन ऐलन की पारियों की बदौलत न्यूजीलैंड ने कीनिया के खिलाफ अपने मैच के दौरान पहले खेलते हुए 50 ओवर में 436 रन बनाए। लेकिन जवाब में बैटिंग करने उतरी कीनिया टीम महज 193 रन पर आऊट हो गई। कीनिया की तरफ से अमन गांधी ने 63 और अवीत देसाईं ने 28 रन बनाए। थोम्स 39 तो सचिन बुधिया 27 रन बनाकर अंत तक नॉट आऊट रहे लेकिन वह अपनी टीम को जीत नहीं दिलवा पाए।

स्कोर के हिसाब से 10वें बढ़ी जीत
केन्या का 245 रन से हारना अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप के इतिहास से ऐसा 10वां मौका था जब कोई टीम इतने बड़े अंतर से हारी। पहले नंबर पर भी कीनिया की ही टीम है। 2002 क्रिकेट वल्र्ड कप के दौरान कीनिया की टीम ऑस्ट्रेलिया के दिए 481 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए महज 50 रन ही बना पाई थीं। इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने 430 रन से मैच जीता था। जोकि अंडर-19 वल्र्ड कप का सर्वश्रेष्ठ रिकॉर्ड है। भारत भी 2004 में स्कॉटलैंड को 270 रन तो 2014 में पापुआ न्यू गिनी को 245 रन से हरा चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

− 1 = 2